रवीना ने खोला अक्षय का बड़ा राज, कहा – ‘रात 3 बजे तक मैं दर्द से तड़पती रही, फिर मैंने…’

0

रवीण ने उस महिला को देख कर ये सोचा के मेरे पास तो सब कुछ है. गाड़ी है, बांग्ला है, नौकर है, सारे सुख है जीवन के तो सिर्फ़ एक इंसान के जाने से मई इतनी दुखी क्यो हू. फिर उन्होने खुद सभाला और हिम्मत से कम लिया.

कुछ भी कर सकती है अपने परिवार की खुशी के लिए रवीना :
रवीना बोलती है के वो अपने परिवार के लिए कुछ भी कर सकती है. उस दिन रवीना ने मान बना लिया था के वो अब अपने अतीत को कभी याद नई करेंगी और ना ही कभी उस बात से दुखी होंगी. आज वो अपने परिवार के साथ बहुत खुश है.